Tuesday, April 16, 2024
HomeNewsDelhiDelhi Aiims News : संगीत के जादू से वापस मिलेगी ब्रेन स्ट्रोक...

Delhi Aiims News : संगीत के जादू से वापस मिलेगी ब्रेन स्ट्रोक में खोई आवाज

विशेषज्ञों का दावा है कि इस खास मॉड्यूल की मदद से ब्रेन स्ट्रोक में खाई हुई बोलने की शक्ति वापस (With the help of a special module, the power of speech lost in brain stroke is restored.) मिल सकती है। इंडियन म्यूजिक को ब्रेन स्ट्रोक के मरीज की रिहेबिलिटेशन (Indian music for the rehabilitation of brain stroke patients.) में प्रभावी पाया गया है।

Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now

दिल्ली एम्स और IIT ने मिलकर तैयार किया खास फॉर्मूला

Delhi Aiims : ब्रेन स्ट्रोक के दौरान अपनी आवाज खोने वाले मरीजों (Patients who lost their voice during brain stroke) के लिए एम्स और आईआईटी का खास फॉर्मूला (Special formula of AIIMS and IIT) किसी चमत्कार से कम साबित नहीं होगा। इन सबमें खास कडी साबित होगी म्यूजिक थेरेपी (music therapy)।
विशेषज्ञों का दावा है कि इस खास मॉड्यूल की मदद से ब्रेन स्ट्रोक में खाई हुई बोलने की शक्ति वापस (With the help of a special module, the power of speech lost in brain stroke is restored.) मिल सकती है।
इंडियन म्यूजिक को ब्रेन स्ट्रोक के मरीज की रिहेबिलिटेशन (Indian music for the rehabilitation of brain stroke patients.) में प्रभावी पाया गया है। एम्स (Delhi Aiims) ने इस मॉड्यूल की शुरूआती स्टडी को शुरू करने की घोषणा की है। इस आधार पर आगे की योजना तैयार की जाएगी।

मौत की दूसरी सबसे बडी वजह है ब्रेन स्ट्रोक |  Second biggest cause of death is brain stroke

एम्स की न्यूरोलॉजी विभाग की डॉक्टर दीप्ति विभा (Dr. Deepti Vibha of Neurology Department of Delhi AIIMS) के मुताबिक इस योजना को वैसे ब्रेन स्ट्रोक मरीजों के लिए तैयार किया गया है, जो बोलने की क्षमता खो चुके हैं। उन्होंने कहा कि म्यूजिक थेरेपी से ऐसे मरीजों की रिकवरी संभव (Recovery of patients who have lost their voice due to brain stroke is possible through music therapy.) है। यहां बता दें कि स्ट्रोक मौत की दूसरी सबसे बडी वजह है।
Delhi Aiims News : संगीत के जादू से वापस मिलेगी ब्रेन स्ट्रोक में खोई आवाज
Delhi Aiims News : संगीत के जादू से वापस मिलेगी ब्रेन स्ट्रोक में खोई आवाज | Photo : Canva
इसकी वजह से अफेजिया (Aphasia) होता है, जिसका मतलब है कि ब्रेन स्ट्रोक की वजह से मरीज का लैंग्वेज फंक्शन खराब (Patient’s language function impaired due to brain stroke) हो जाता है। डॉक्टर विभा के मुताबिक, एक्यूट ब्रेन स्ट्रोक (acute brain stroke) के 21 से 38 प्रतिशत मरीजों में इस तरह की समस्या होती है। इंडियन म्यूजिक की थेरेपी (Indian Music Therapy) देने से ऐसे मरीजों में बोलने की क्षमता को रिकवर किया जा सकता है। 

Delhi Aiims : इंडियन म्यूजिक को प्रोपर स्ट्रक्चर देकर बनाया फॉर्मुला

डॉक्टर विभा के मुताबिक, वेस्टर्न कंट्रीज में म्यूजिक थेरपी (Music Therapy in Western Countries) का अपना अलग मॉड्यूल है लेकिन यह वेस्टर्न म्यूजिक पर आधारित है। उनके यहां म्यूजिक थेरपी से अच्छी रिकवरी देखने को मिलती है। म्यूजिक लिस्ट्रेचर में जो है, वह भारतीयों के लिए उपयोगी नहीं है।
उन्होंने कहा कि म्यूजिक थेरेपी का जिस तरह अभी इस्तेमाल हो रहा है वह अनस्ट्रक्चर्ड है। इसका अभी कोई साइंटिफिक फॉर्म्युला (scientific formula) नहीं है। इसी कमी को दूर करने के लिए एम्स और आईआईटी के विशेषज्ञों (experts from Delhi AIIMS and IIT) ने मिलकर इंडियन म्यूजिक को प्रोपर स्ट्रक्चर दिया और फिर खास फॉर्मूला तैयार किया।

10 मरीजों पर होगी स्टडी 

डॉक्टर विभा के मुताबिक, अब इस फॉर्मूला की शुरूआती स्टडी शुरू की जाएगी। यह स्टडी 10 मरीजों पर की जाएगी। स्टडी में ऐसे मरीजों को शामिल किया जाएगा, जिन्हें पिछले एक साल से ब्रेन स्ट्रोक की वजह से स्पीच की समस्या (Speech problem due to brain stroke) हो रही है।
इसकी सफलता का आकलन करने के बाद आगे की स्टडी से संबंधित योजना को तैयार किया जाएगा। जिसमें शामिल होने वाले मरीजों की संख्या को बढाया जाएगा। डॉक्टर विभा के अनुसार अचानक किसी की आवाज चले जाने से उसकी जिंदगी पर इसका गहरा प्रभाव पडता है। अगर ऐसे मरीजों में अगर थोडी सी भी बोलने की क्षमता वापस आ जाए, तो उनके जीवन की गुणवत्ता बेहतर होती है।


नोट: यह लेख मेडिकल रिपोर्टस से एकत्रित जानकारियों के आधार पर तैयार किया गया है।

अस्वीकरण: caasindia.in में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टर, विशेषज्ञों व अकादमिक संस्थानों से बातचीत के आधार पर तैयार किए जाते हैं। लेख में उल्लेखित तथ्यों व सूचनाओं को caasindia.in के पेशेवर पत्रकारों द्वारा जांचा व परखा गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी तरह के निर्देशों का पालन किया गया है। संबंधित लेख पाठक की जानकारी व जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। caasindia.in लेख में प्रदत्त जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है और न ही जिम्मेदारी लेता है। उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित बीमारी/विषय के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

 

caasindia.in सामुदायिक स्वास्थ्य को समर्पित हेल्थ न्यूज की वेबसाइट

Read : Latest Health News|Breaking News|Autoimmune Disease News|Latest Research | on https://www.caasindia.in|caas india is a multilingual website. You can read news in your preferred language. Change of language is available at Main Menu Bar (At top of website).
Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindi
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindihttps://caasindia.in
Welcome to caasindia.in, your go-to destination for the latest ankylosing spondylitis news in hindi, other health news, articles, health tips, lifestyle tips and lateset research in the health sector.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Article