Tuesday, May 21, 2024
HomeHealth TipsUric Acid कंट्रोल में रखना है तो ऐसे खाएं मेथी

Uric Acid कंट्रोल में रखना है तो ऐसे खाएं मेथी

Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now

जानिए Uric Acid में मेथी दाने का प्रयोग

Uric Acid : यूरिक एसिड कई स्वास्थ्य समस्याओं की वजह बन सकती है। इसे बढाने वाले फूड्स समस्याओं को और अधिक बढा सकते हैं। यूरिक एसिड जोडों में जम जाता है। जिसके कारण जोडों में दर्द और गठिया जैसी समस्याएं परेशान कर सकती है।

आयुर्वेद और नेचुरोपैथी विशेषज्ञों के मुताबिक, यूरिक एसिड का बढा हुआ स्तर कम करने में मेथी दाना असरदार साबित हो सकता है। इसमें कई तरह के औषधीय गुण होते हैं, जो ब्लड प्रेशर, शुगर लेवल को भी कम करने में मदद मिल सकती है। हम यहां आपको मेथी दाने के प्रयोग के बारे में बता रहे हैं, जिससे यूरिक एसिड की समस्या को कम किया जा सकता है।

यूरिक एसिड को कम करता है मेथी दाना | Fenugreek Seeds To Control Uric Acid

Uric Acid कंट्रोल में रखना है तो ऐसे खाएं मेथी
Uric Acid कंट्रोल में रखना है तो ऐसे खाएं मेथी| Photo : Canva

मेथी के दानों में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं। इनमें फॉलिक एसिड, राइबोफ्लेविन, पौटेशियम, कैल्शियम, मैंग्नीज और विटामिन, ए, बी, सी और के होता है। मेथी के बीज को खाने से शरीर को कई तरह के फायदे होते हैं। यह यूरिक एसिड को कम करने अलावा डायबिटीज के मामले में भी सहायता करता है। इसके नियमित प्रयोग से पाचन शक्ति को भी बेहतर बनाया जा सकता है। जबकि, यूरिक एसिड और गाउट जैसी समस्या में आयुर्वेदिक चिकित्सक इसे बेहतर बताते हैं।

Also Read : Delhi Aiims : दीपमालिका के समय सिंथेटिक कपडे पहनना हो सकता है खतरनाक, जानिए क्या कहते हैं AIIMS विशेषज्ञ

ऐसे करें मेथी दाने का प्रयोग

यूरिक एसिड की समस्या को कम करने के लिए एक चम्मच मेथी के दानों को आधा कप पानी में रातभर भिगोकर रख दें। अगली सुबह इन दानों को चबाकर खा लें और पानी को पी लें। इस प्रक्रिया को नियमित रूप से करने से यूरिक एसिड की समस्या कम होने लगेगी।

इन नुस्खों को भी आजमाएं

हल्दी (Turmeric) का सेवन भी यूरिक एसिड के लिए फायदेमंद बताया गया है। औषधीय गुणों के साथ हल्दी में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। जो जोड़ों के दर्द (Joint Pain) से राहत दिलाने में काफी मददगार साबित होते हैं। एक चम्मच हल्दी को एक गिलास दूध में मिलाकर पी सकते हैं। लहसुन के सेवन को भी यूरिक एसिड से निपटने में असरदार बताया गया है। यूरिक एसिड की समस्या से निपटने के लिए रोजाना एक कच्चा लहसुन खाया जा सकता है।


नोट: यह लेख मेडिकल रिपोर्टस से एकत्रित जानकारियों के आधार पर तैयार किया गया है।

अस्वीकरण: caasindia.in में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टर, विशेषज्ञों व अकादमिक संस्थानों से बातचीत के आधार पर तैयार किए जाते हैं। लेख में उल्लेखित तथ्यों व सूचनाओं को caasindia.in के पेशेवर पत्रकारों द्वारा जांचा व परखा गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी तरह के निर्देशों का पालन किया गया है। संबंधित लेख पाठक की जानकारी व जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। caasindia.in लेख में प्रदत्त जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है और न ही जिम्मेदारी लेता है। उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित बीमारी/विषय के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

 

caasindia.in सामुदायिक स्वास्थ्य को समर्पित हेल्थ न्यूज की वेबसाइट

Read : Latest Health News|Breaking News|Autoimmune Disease News|Latest Research | on https://www.caasindia.in|caas india is a multilingual website. You can read news in your preferred language. Change of language is available at Main Menu Bar (At top of website).
Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now
Avinash Jha
Avinash Jhahttps://caasindia.in
अविनाश झा एक Ankylosing Spondylitis warrior हैं और पिछले 10 वर्षों से एएस का सामना कर रहे हैं। पेशे से अकाउंट मैनेजर हैं। अविनाश पिछले 4 वर्षों से एएस वॉलेंटियर के तौर पर कार्य कर रहे हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Article