Wednesday, July 10, 2024
HomeNewsDelhiLNJP HOSPITAL : बच्चों की सर्जरी करेंगे रोबोट, रिकवरी में आएगी तेजी 

LNJP HOSPITAL : बच्चों की सर्जरी करेंगे रोबोट, रिकवरी में आएगी तेजी 

वर्तमान में यहां सामान्य सर्जरी (general surgery) और एडवांस लेप्रोस्कोपिक सर्जरी (Advanced Laparoscopic Surgery) की सुविधा उपलब्ध है। अस्पताल को नया भवन मिलने के बाद विभाग में रोबोटिक सर्जरी (robotic surgery) शुरू कर दी जाएगी।

Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now

एलएनजेपी (लोकनायक) अस्पताल में रोजाना हो रही है 7 बच्चों की सर्जरी

LNJP Hospital News : दिल्ली (Delhi) सरकार के लोकनायक अस्पताल (Loknayak jaiprakash Narayan Hospital)  में बच्चों की सर्जरी (pediatric surgery) को अत्याधुनिक (state of the art) बनाने की तैयारी हो रही है।
यहां अब बच्चों की सर्जरी को रोबोट की मदद से (Children’s surgery with the help of robots) अंजाम दिया जाएगा। नतीजतन, यहां बच्चों को सर्जरी के बाद रिकवर (recovery after surgery) होने में भी पहले से कम वक्त लगेगा। वर्तमान में यहां सामान्य सर्जरी (general surgery) और एडवांस लेप्रोस्कोपिक सर्जरी (Advanced Laparoscopic Surgery) की सुविधा उपलब्ध है। अस्पताल को नया भवन मिलने के बाद विभाग में रोबोटिक सर्जरी (robotic surgery) शुरू कर दी जाएगी।

LNJP Hospital : सुविधा शुरू होने पर बच्चों को मिलेगी एडवांस सेवाएं 

जानकारी के मुताबिक प्रत्येक वर्ष अस्पताल में हजारों बच्चे भर्ती होते हैं। यहां अभी रोजाना औसतन 7 बच्चों की माइनर या जटिल सर्जरी (Minor or complex surgery) की जा रही है। बाल शल्य चिकित्सा विभाग की अध्यक्ष डॉ. सिम्मी के रतन (Dr. Simmi K Ratan, Chairman of the Department of Pediatric Surgery) के मुताबिक, रोबोटिक सर्जरी की सुविधा शुरू होने पर मरीजों को एडवांस केयर (advance care) देना संभव हो जाएगा। अस्पताल में प्रत्येक वर्ष माइनर और जटिल को मिलाकर 4 हजार सर्जरी की जाती है।
LNJP HOSPITAL : बच्चों की सर्जरी करेंगे रोबोट, रिकवरी में आएगी तेजी
LNJP HOSPITAL : बच्चों की सर्जरी करेंगे रोबोट, रिकवरी में आएगी तेजी | Photo : Canva

बच्चों की सर्जरी पर कार्यशाला आयोजित 

मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज (Maulana Azad Medical College) में कार्यशाला आयोजित किया गया। जहां बाल शल्य चिकित्सा  सुविधा को एडवांस बनाने के विषय पर चर्चाएं हुई। इस दौरान लोकनायक अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. सुरेश कुमार (Dr. Suresh Kumar, Medical Superintendent of Loknayak Hospital), मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. पूनम नारंग (Dr. Poonam Narang, Dean of Maulana Azad Medical College), डॉ. सुजॉय नियोगी, डॉ. प्रफुल्ल कुमार, डॉ. गौरव सक्सेना, डॉ. मोहम्मद फहीम अहमद सहित अन्य विशेषज्ञों ने बाल शल्य चिकित्सा विषय पर जानकारियां शेयर की। इसके अलावा एक पुस्तक का भी विमोचन किया गया।

बच्चों को मिलेगी इन जटिल सर्जरियों की सुविधा

  • जन्म से खाने की नली न होना
  • जन्म से शौच का रास्ता न होना
  • पेशाब में रुकावट
  • पेशाब की थैली छोटा या खुला होना
  • गुर्दे की नली में रुकावट
  • छाती में गांठ
  • छाती और पेट के बीच में पर्दा की दिक्कत
  • सामने के हिस्से में पेट न बना होना
  • पित की थैली न बनना
  • जन्म से पीलिया होना
  • शारीरिक बनावट में दिक्कत
  • अंतड़ियों में रुकावट
  • ऊंचाई से गिरकर चोटिल होना
  • बायोप्सी

इन सूरतों में विकार के साथ पैदा हो सकते हैं बच्चे 

  •  गर्भावस्था के दौरान मां को संक्रमण
  • पारिवारिक इतिहास में जेनेटिक समस्या
  • जन्म के दौरान जब लिंग स्पष्ट न हो
  • जेनेटिक कैंसर के कारण हो
  • मां का अत्याधिक धूम्रपान या नशा करना
  • मां को वायरल इंफेक्शन होना

टॉयलेट क्लीनर से बच्चों को खतरा  

लोकनायक अस्पताल (LNJP Hospital) में कई ऐसे बच्चों को सर्जरी के लिए लाया जा रहा है, जो टॉयलेट क्लीनर, एसिड या अन्य जोखिम पदार्थ पी लेते हैं। लापरवाही से भरा ऐसे मामले चिंताजनक साबित हो रहे हैं। आमतौर पर बच्चों में यह प्रवृत्ति होती है कि हाथ में आने वाली किसी भी वस्तु को वह अपने मुंह में डाल लेते हैं। जोखिम भरे ऐसे पदार्थ के संपर्क में आने से बच्चों को कई तरह के आंतरिक नुकसान हो सकते हैं। ऐसे में माता-पिता को इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि एडिस, टायलेट क्लीनर आदि वस्तुओं को वे बच्चों की पहुंच से दूर रखें।


नोट: यह लेख मेडिकल रिपोर्टस से एकत्रित जानकारियों के आधार पर तैयार किया गया है।

अस्वीकरण: caasindia.in में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टर, विशेषज्ञों व अकादमिक संस्थानों से बातचीत के आधार पर तैयार किए जाते हैं। लेख में उल्लेखित तथ्यों व सूचनाओं को caasindia.in के पेशेवर पत्रकारों द्वारा जांचा व परखा गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी तरह के निर्देशों का पालन किया गया है। संबंधित लेख पाठक की जानकारी व जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। caasindia.in लेख में प्रदत्त जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है और न ही जिम्मेदारी लेता है। उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित बीमारी/विषय के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

 

caasindia.in सामुदायिक स्वास्थ्य को समर्पित हेल्थ न्यूज की वेबसाइट

Read : Latest Health News|Breaking News|Autoimmune Disease News|Latest Research | on https://www.caasindia.in|caas india is a multilingual website. You can read news in your preferred language. Change of language is available at Main Menu Bar (At top of website).
Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindi
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindihttps://caasindia.in
Welcome to caasindia.in, your go-to destination for the latest ankylosing spondylitis news in hindi, other health news, articles, health tips, lifestyle tips and lateset research in the health sector.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Article