Friday, June 21, 2024
HomeBeauty TipsNatural Hair पाने के लिए सिर्फ लगाना ही नहीं, अच्छा खाना भी...

Natural Hair पाने के लिए सिर्फ लगाना ही नहीं, अच्छा खाना भी है जरूरी

अगर बालों को लेकर कोई अनुवांशिक (genetic) समस्या है। यानि, आपके परिवार में समय से पहले बाल झडने, गंजापन आदि की हिस्ट्री रही है, तब आपको बालों की देखभाल को लेकर और अधिक गंभीर होना चाहिए।

Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now

बालों को सीधेतौर पर प्रभावित करता है आपका फूड हैबिट

नई दिल्ली। बालों को प्राकृतिक (Natural Hair) रूप से स्वस्थ रखने के लिए आप भले ही महंगे से महंगे और ब्रांडेड हेयर केयर उत्पादों का उपयोग कर लें लेकिन अगर आपके आहार में बालों को पोषण प्रदान करने वाले पोषक तत्व नहीं है, तो ये सारे हेयर केयर उत्पादों का प्रयोग बेकार ही जाएगा। विशेषज्ञों के मुताबिक बालों का स्वास्थ्य (Natural Hair) आपके भोजन में शामिल तत्वों से प्रभावित होता है। बालों को जीतना बाहर से देखभाल चाहिए, उतना ही अंदरूनी देखभाल की जरूरत होती है।

अगर बालों को लेकर कोई अनुवांशिक (genetic) समस्या है। यानि, आपके परिवार में समय से पहले बाल झडने, गंजापन आदि की हिस्ट्री रही है, तब आपको बालों की देखभाल को लेकर और अधिक गंभीर होना चाहिए। आप अनुवांशिक समस्याओं को पूरी तरह नहीं रोक सकते लेकिन बेहतर देखभाल के जरिए उनके प्रभाव को जरूर कम कर सकते हैं। हम यहां आपको कुछ ऐसे टिप्स बता रहे हैं, जिससे आपको अपने बालों की प्राकृति सुंदरता (Natural Hair) बनाए रखने में मदद मिल सकती है।

एपिडर्मिस परत करता है पोषण को अवशोषित

एपिडर्मिस परत (epidermis layer) वह हिस्सा है, जहां त्वचा की सतह का लगातार पुनर्निर्माण होता है। यहीं पोषक तत्व अवशोषित (absorb) होते हैं। यह वह जगह है, जहां मजबूत या कमजोर बाल उगते हैं। एलोवेरा, रोजमेरी, आजवाइन के बीज, हल्दी, केल और थाइम से बने बालों से संबंधित उत्पाद स्कल्प के लिए अच्छे पोषक तत्व हैं। इससे यह भी पता चलता है कि प्रतिदिन खाया जाने वाला भोजन रक्त में अवशोषित होकर आपके स्कल्प और बालों को स्वस्थ (Natural Hair) रखने में भी बडी भूमिका निभाता है।

स्वस्थ आंत रहेगा तो बालों की बढेगी सुंदरता

आपके भोजन में कुछ ऐसे पोषक तत्व और यौगिक (compound) होते हैं, जिनसे बालों को स्वास्थ्य (Natural Hair) सीधेतौर पर प्रभावित हो सकता है। अगर आपकी आंतें स्वस्थ्य है तो बालों के रोम को बेहतर पोषण मिलती है। इससे त्वचा भी स्वस्थ रहते हैं और नाखूनों को भी मजबूती मिलती है। अगर आप बालों के स्वास्थ्य के प्रति गंभीरता अपनाते हैं, तो भोजन के माध्यम से अपने बालों को बेहतर पोषण और देखभाल प्रदान कर सकते हैं।

भोजन में स्वस्थ वसा का उपयोग करें

यह ध्यान रखना विशेषतौर से महत्वपूर्ण है कि पोषक तत्व एक साथ मिलकर काम करते हैं। बालों के स्वास्थ्य (Natural Hair) के लिए यह जानकारी बेहद महत्वूर्ण हैं। उदाहरण के लिए, यदि स्ट्रॉबेरी, रसभरी, ब्लूबेरी, या ब्लैकबेरी को स्मूदी में डाला जा रहा है, तो उसमें मौजूद लाभ को पाने के लिए आपको आवश्यक वसा (essential fats) भी इसमें शामिल करना होगा। अगर आप इस स्मूदी में एवेकाडो मिला दें तो इसमें मौजूद पोषक तत्वों को आपका शरीर बेहतर तरीके से अवशोषित कर पाएगा।

Also Read : Covid USA : कोरोना वै​क्सीन के प्रति क्या सोचते हैं अमेरिकी युवा? जानिए सर्वेक्षण के नतीजे

पोषक तत्वों के बेहतर अवशोषण के लिए स्वस्थ्य वसा का करें इस्तेमाल

ठीक इसी तरह से ब्रोकोली, शतावरी, या हरी बीन्स जैसी सब्जियों से पोषक तत्वों को अवशोषित करने के लिए इसे मक्खन या जैतून के तेल (olive oil) में पकाना बेहतर होगा। यदि आप पोषक तत्वों को वसा के साथ नहीं खाते हैं तो आप उन्हें अवशोषित नहीं कर पाऐंगे। अपने भोजन से ज्यादा मात्रा में पोषक तत्वों को अवशोषित करने के लिए उनमें स्वस्थ वसा वाले आहार जैसे सैल्मन, जैतून, जैतून का तेल, नट्स और चिया बीज को भी शामिल करें।

Natural Hair लिए अमृत से कम नहीं है पानी

Natural Hair पाने के लिए सिर्फ लगाना ही नहीं, अच्छा खाना भी है जरूरी
Natural Hair पाने के लिए सिर्फ लगाना ही नहीं, अच्छा खाना भी है जरूरी | Photo : freepik

स्वस्थ बालों (Natural Hair) के लिए पानी अमृत के समान है। आपकी त्वचा की कोशिकाओं में नमी बनाए रखने के लिए बाहरी झिल्ली पर एक अच्छी वसा की सतह होनी चाहिए। इसीलिए भी वसा आवश्यक है। वसा आपकी खोपड़ी को हाइड्रेटेड रखती है। यह बालों के रोम के विकास में मदद करती है। पानी इस पूरी प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

अधिक मात्रा में कोलेजन की जरूरत

वसा की मदद से पोषक तत्वों को शरीर में अवशोषित करने की प्रक्रिया के बाद उन्हें सही स्थान पर पहुंचाना भी जरूरी है। खोपड़ी में मौजूद एपिडर्मिस परत (epidermis layer) तक पोषक तत्वों का सही तरह से पहुंचना महत्वपूर्ण है। प्रोटीन हमारी कोशिकाओं तक पोषक तत्व पहुंचाता है। यह स्वस्थ कोशिकाओं के लिए बिल्डिंग ब्लॉक है। शाकाहारी आहार, मांस, डेयरी उत्पाद, हरी पत्तेदार सब्जियां और क्विनोआ सभी प्रोटीन के बेहतरीन स्रोत हैं।

स्वस्थ बालों (Natural Hair) के लिए कोलेजन (collagen) एक बेहतरीन प्रोटीन है। जो त्वचा कोशिकाओं के पुर्नर्निर्माण की प्रक्रिया में सहायता करता है। यह बालों की संरचना और त्वचा की संरचना का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह बालों के विकास को बढावा देता है। डैन्ड्रफ के जोखिम को कम करता है और बालों को झडने से रोकता है।

कोलेजन और विटामिन का मिश्रण

कोलेजन उत्पादन की प्रक्रिया के लिए विटामिन सी बेहद जरूरी है। इसे प्राप्त करने का सबसे आसान और बेहतर तरीका यह है कि रोज सुबह विटामिन सी से भरपूर एक चौथाई या आधा नींबू लें और इसे पीने के लिए एक गिलास पानी में निचोड़ लें। यह आपके लीवर को साफ करता है, जो आपके पेट के स्वास्थ्य, पाचन में मदद करता है और चमकदार त्वचा को बढ़ावा देता है। हालांकि, इसका ज्यादा प्रयोग आपके पेट में एसिड की मात्रा को बढा सकता है। जिससे पेट दर्द आदि की समस्या हो सकती है।

लाल मिर्च में हरी मिर्च की तुलना में तीन गुना अधिक विटामिन सी होता है। संतरे की तुलना में अगर लाल मिर्च की बात करें तो इसमें अधिक विटामिन सी की मात्रा मौजूद होती है। विटामिन ए, डी, ई और के भी बालों के स्वास्थ्य में अद्भुत सहायक हैं क्योंकि वे वसा में घुलनशील (soluble) होते हैं। इससे कोशिकाओं की मरम्मत और नवीनीकरण की प्रक्रिया में भी मदद मिलती है1

सूजन मुक्त शरीर होगा तो बेहतर रहेगी बालों की सेहत

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक बालों को स्वस्थ (Natural Hair) रखने के लिए यह जरूरी है कि आपका शरीर सूजन (Swelling) से मुक्त हो। सूजन से बालों के रोम नष्ट हो सकते हैं और विकास ख़राब हो सकता है। एंटीऑक्सीडेंट के माध्यम से सूजन को कम किया जा सकता है।

कुछ खनिज, जैसे आयरन और जिंक का सही संतुलन, विशेष रूप से बालों को फायदा पहुंचाते हैं और यह सूजन रोधी (anti inflammatory) भी होते हैं। आयरन की भूमिका भी बालों के स्वास्थ्य  के लिए अहम है। बालोंं के विकास के लिए आयरन की संतुलित मात्रा का होना जरूरी हो जाता है। अंडे, बीन्स, नट्स, बीज और थोड़ी मात्रा में मांस जैसे लौह स्रोतों को शामिल करने से बालों के स्वास्थ्य में भी मदद मिलती है।

अन्य सूजनरोधी खाद्य पदार्थों में सैल्मन जैसे ओमेगा-3 फैटी एसिड शामिल हैं। यह अच्छी, मोटी झिल्लियों के निर्माण में योगदान देकर आपकी त्वचा को नम रखता है। विटामिन ए और ओमेगा-3 से भरपूर दाल और लाल मिर्च के साथ गहरे हरे रंग की पत्तेदार सब्जियां और ऊपर से सैल्मन खाने से विशेष लाभ मिल सकता है।

[table “9” not found /]
[table “5” not found /]

नोट: यह लेख मेडिकल रिपोर्टस से एकत्रित जानकारियों के आधार पर तैयार किया गया है।

अस्वीकरण: caasindia.in में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टर, विशेषज्ञों व अकादमिक संस्थानों से बातचीत के आधार पर तैयार किए जाते हैं। लेख में उल्लेखित तथ्यों व सूचनाओं को caasindia.in के पेशेवर पत्रकारों द्वारा जांचा व परखा गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी तरह के निर्देशों का पालन किया गया है। संबंधित लेख पाठक की जानकारी व जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। caasindia.in लेख में प्रदत्त जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है और न ही जिम्मेदारी लेता है। उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित बीमारी/विषय के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

 

caasindia.in सामुदायिक स्वास्थ्य को समर्पित हेल्थ न्यूज की वेबसाइट

Read : Latest Health News|Breaking News|Autoimmune Disease News|Latest Research | on https://www.caasindia.in|caas india is a multilingual website. You can read news in your preferred language. Change of language is available at Main Menu Bar (At top of website).
Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindi
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindihttps://caasindia.in
Welcome to caasindia.in, your go-to destination for the latest ankylosing spondylitis news in hindi, other health news, articles, health tips, lifestyle tips and lateset research in the health sector.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Article