Sunday, March 3, 2024
HomeCovid 19Delhi News : जरूरी संसाधनों को खरीदने के साथ कर्मचारी बढाने के...

Delhi News : जरूरी संसाधनों को खरीदने के साथ कर्मचारी बढाने के आदेश

Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now

Delhi News :  समीक्षा बैठक में लिए गए अहम फैसले

नई दिल्ली। टीम डिजिटल : Delhi News : जरूरी संसाधनों को खरीदने के साथ कर्मचारी बढाने के आदेश- कोरोना महामारी के एक बार फिर गहराने की आशंकाओं के बीच दिल्ली (Delhi) सरकार अलर्ट मोड पर आती नजर आ रही है. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कोरोना को लेकर अपनी समीक्षा बैठक में कई अहम फैसले लिए।

अस्पतालों से कहा गया है कि वे महामारी से लड़ने के लिए जो भी संसाधन आवश्यक हों, उनकी खरीद शुरू कर दें। इसके अलावा अस्पतालों में जरूरत के हिसाब से कर्मचारियों की संख्या बढ़ाने के भी निर्देश दिए गए हैं. नए वैरिएंट BF.7 (नए वैरिएंट BF.7) को ध्यान में रखते हुए इस सरकारी बैठक में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, मुख्य सचिव और दिल्ली सरकार के विभिन्न विभागों के अधिकारी शामिल हुए।

समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि अभी तक दिल्ली (Delhi) में नए वेरिएंट से जुड़ा कोई मामला सामने नहीं आया है. इसके बावजूद हर तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए. उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया कि पॉजिटिव सैंपलों को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजने की प्रक्रिया शुरू की जाए. इसके अलावा एहतियातन खुराक बढ़ाने के साथ ही अस्पतालों में मशीनों के निरीक्षण की कवायद भी शुरू करने को कहा.

1.4 करोड़ से अधिक लोगों को अभी भी निवारक खुराक नहीं मिली है

दिल्ली में अधिकांश स्वास्थ्य सेवा और फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं को एहतियाती खुराक और कोविड वैक्सीन दी गई है। वहीं, 18-59 और 60 आयु वर्ग के नागरिकों को जल्द टीका लगवाने की जरूरत है। तीनों श्रेणियों के 1.4 करोड़ से ज्यादा लोगों को एहतियाती खुराक दी जानी बाकी है. वहीं अब तक 33.58 लाख से ज्यादा लोगों को यह खुराक दी जा चुकी है. बताया गया कि 21 दिसंबर तक दिल्ली में 3.73 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है.


जरूरत पड़ी तो प्रतिदिन एक लाख टेस्ट

मुख्यमंत्री ने कहा कि जरूरत पड़ी तो प्रतिदिन एक लाख जांच की जा सकती है. कोरोना की पिछली लहर के दौरान 25 हजार बेड तैयार किये गये थे. इस बार 36 हजार बेड की उपलब्धता का लक्ष्य होगा. उन्होंने कहा कि वर्तमान में राज्य के पास 928 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भंडारण की क्षमता है. इसके अलावा छह हजार ऑक्सीजन सिलेंडर और 15 ऑक्सीजन टैंकर भी उपलब्ध हैं

केंद्र के निर्देशों को गंभीरता से लेने के निर्देश

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से केंद्र सरकार द्वारा जारी निर्देशों को गंभीरता से लेने को कहा है. यह भी बताया गया कि राजधानी में अब तक 92 प्रतिशत मामले एक्स बीबी वेरिएंट से संबंधित हैं। इससे पीड़ित मरीजों में मामूली लक्षण सामने आते हैं।

एम्बुलेंस और बेड बढ़ाने के निर्देश

Delhi: Orders to increase staff along with purchase of necessary resources
Delhi: Orders to increase staff along with purchase of necessary resources
मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में इस समय 380 एंबुलेंस सक्रिय हैं। नए एंबुलेंस की उपलब्धता के लिए आर्डर दिए जा चुके हैं। इसके अलावा दिल्ली के अस्पतालों में 13 जगहों पर आठ हजार से अधिक बिस्तरों को तैयार करने के निर्देश भी दिए गए हैं। इसके अलावा 1100 से अधिक लोगों को होम आइसोलेशन में उपचार देने की क्षमता भी विकसित की गई है। 

दिल्ली में ऑक्सीजन की उपलब्धता 

Delhi: Orders to increase staff along with purchase of necessary resources
दिल्ली : जरूरी संसाधनों को खरीदने के साथ कर्मचारी बढाने के आदेश
  • 928.58 मीट्रिक टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ)
  • राज्यभर में 8 आरक्षित भंडारण टैंकों में एलएमओ का 442 मीट्रिक टन बफर
  • वर्तमान में चिकित्सा संस्थानों के पास ऑक्सीजन सिलिंडरों में 224.89 मीट्रिक टन एलएमओ
  • सरकार के पास रिजर्व में 6,000 अतिरिक्त ऑक्सीजन सिलिंडर
  • दिल्ली में कुल 98 पीएसए प्लांट (क्षमता 116.96 मीट्रिक टन)
  • Government has 2 cryogenic bottling plants with a capacity of 12.5 MT LMO for refilling 1400 cylinders per day

Delhi News : जरूरी संसाधनों को खरीदने के साथ कर्मचारी बढाने के आदेश


Read : Latest Health News|Breaking News|Autoimmune Disease News|Latest Research | on https://caasindia.in | caas india is a multilingual website. You can read news in your preferred language. Change of language is available at Main Menu Bar (At top of website).  

नोट: यह लेख मेडिकल रिपोर्टस से एकत्रित जानकारियों के आधार पर तैयार किया गया है।

अस्वीकरण: caasindia.in में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टर, विशेषज्ञों व अकादमिक संस्थानों से बातचीत के आधार पर तैयार किए जाते हैं। लेख में उल्लेखित तथ्यों व सूचनाओं को caasindia.in के पेशेवर पत्रकारों द्वारा जांचा व परखा गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी तरह के निर्देशों का पालन किया गया है। संबंधित लेख पाठक की जानकारी व जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। caasindia.in लेख में प्रदत्त जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है और न ही जिम्मेदारी लेता है। उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित बीमारी/विषय के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

 

caasindia.in सामुदायिक स्वास्थ्य को समर्पित हेल्थ न्यूज की वेबसाइट

Read : Latest Health News|Breaking News|Autoimmune Disease News|Latest Research | on https://www.caasindia.in|caas india is a multilingual website. You can read news in your preferred language. Change of language is available at Main Menu Bar (At top of website).
Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindi
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindihttps://caasindia.in
Welcome to caasindia.in, your go-to destination for the latest ankylosing spondylitis news in hindi, other health news, articles, health tips, lifestyle tips and lateset research in the health sector.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Article

हेल्थ रिपोर्ट 2022 : हेल्थ के मामले में दुनिया में किस तरह की रही हलचल सर्दियों में इन ब्ल्ड ग्रुप वालों को हार्ट अटैक का रहता है जोखिम सफेद बाल से परेशान हैं तो आजमाएं यह तरीका मोबाइल जरूरी है लेकिन बढा रहा है जीवन में तनाव नपुंसकता खत्म कर देगी 8 टांगों वाली यह मकड़ी
हेल्थ रिपोर्ट 2022 : हेल्थ के मामले में दुनिया में किस तरह की रही हलचल सर्दियों में इन ब्ल्ड ग्रुप वालों को हार्ट अटैक का रहता है जोखिम सफेद बाल से परेशान हैं तो आजमाएं यह तरीका मोबाइल जरूरी है लेकिन बढा रहा है जीवन में तनाव नपुंसकता खत्म कर देगी 8 टांगों वाली यह मकड़ी