Tuesday, April 16, 2024
HomeEventDrug Free India Campaign : नशा मुक्त अभियान को सफल बनाएंगे 40...

Drug Free India Campaign : नशा मुक्त अभियान को सफल बनाएंगे 40 एटीएफ 

वीएमएमसी और सफदरजंग अस्पताल में मनोचिकित्सा विभाग के अंतर्गत आने वाले एटीएफ केंद्र (ATF Center) का उद्घाटन कार्यक्रम चिकित्सा अधीक्षक डॉ. वंदना तलवार (Medical Superintendent Dr. Vandana Talwar) के साथ अपर एमएस डॉ. पीएस भाटिया, डॉ. जयंती मणि, डॉ. वंदना चक्रवर्ती और विभागाध्यक्ष डॉ. पंकज वर्मा की उपस्थिति में आयोजित किया गया।

Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now

सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय ने उपचार सुविधा का किया उद्घाटन

Drug Free India Campaign  : सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय (MoSJE) के नशा मुक्त भारत अभियान (Drug Free India Campaign) को और भी मजबूती देने की पहल की है। इसमें सफदरजंग अस्पताल (Safdarjung Hospital) प्रमुख भूमिका निभाएगा।

भारत सरकार के  मंत्री (MoSJE) डॉ. वीरेंद्र कुमार (Dr. Virendra Kumar, Minister of Government of India) ने नई दिल्ली स्थित अंबेडकर इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर (Ambedkar International Convention Center, New Delhi) से मनोरोग विभाग, वीएमएमसी सफदरजंग अस्पताल (Department of Psychiatry, VMMC Safdarjung Hospital) सहित देश भर के 40 अन्य एटीएफ के साथ एक उपचार सुविधा की शुरूआत की है। इस मौके पर राज्य मंत्री (एमओएसजेई), प्रतिमा भौमिक, सचिव सौरभ गर्ग, संयुक्त सचिव राधिका चक्रवर्ती, एम्स निदेशक एम. श्रीनिवास मौजूद रहे।

नशा मुक्त अभियान को सफल बनाएंगे 40 एटीएफ
नशा मुक्त अभियान को सफल बनाएंगे 40 एटीएफ
इस मौके पर मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार ने देश के युवाओं, विशेषकर शैक्षणिक संस्थानों में नशीली दवाओं के दुरुपयोग (Drug abuse in educational institutions) के चिंताजनक मुद्दे पर जोर दिया। एमओएसजेई (MOSJE) और गृह मंत्रालय (Home Ministry) देश के भीतर दवाओं की खपत और वितरण (Consumption and distribution of drugs within the country) दोनों पहलुओं से निपटने के लिए समन्वित तरीके से एक साथ काम कर रहे हैं।

Safdarjung Hospital भी संभालेगा Drug Free India Campaign में कमान

नशा मुक्त अभियान को सफल बनाएंगे 40 एटीएफ
नशा मुक्त अभियान को सफल बनाएंगे 40 एटीएफ
वीएमएमसी और सफदरजंग अस्पताल में मनोचिकित्सा विभाग के अंतर्गत आने वाले एटीएफ केंद्र (ATF Center) का उद्घाटन कार्यक्रम चिकित्सा अधीक्षक डॉ. वंदना तलवार (Medical Superintendent Dr. Vandana Talwar) के साथ अपर एमएस डॉ. पीएस भाटिया, डॉ. जयंती मणि, डॉ. वंदना चक्रवर्ती और विभागाध्यक्ष डॉ. पंकज वर्मा की उपस्थिति में आयोजित किया गया।
देश भर के अन्य एटीएफ केंद्रों के साथ, सफदरजंग अस्पताल भी एटीएफ केंद्र (ATF Centre) नशीली दवाओं पर निर्भरता वाले रोगियों के लिए व्यापक उपचार प्रदान करेगा। एटीएफ सेंटर नेशनल ड्रग डिपेंडेंस ट्रीटमेंट सेंटर (NDDTC), एम्स (Delhi Aiims) के साथ साझेदारी में एमओएसजेई योजना (MOSJE Scheme) का हिस्सा है।

राष्ट्रीय कार्य योजना होगी लागू 

नशा मुक्त अभियान को सफल बनाएंगे 40 एटीएफ
नशा मुक्त अभियान को सफल बनाएंगे 40 एटीएफ
सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय (MoSJE) राज्य सरकारों/केंद्र शासित प्रदेशों (UT) को वित्तीय सहायता प्रदान करते हुए, दवा की मांग के मुद्दे को ध्यान में रखते हुए ड्रग डिमांड रिडक्शन (NAPDDR) के लिए राष्ट्रीय कार्य योजना लागू कर रहा है। यह सहायता निवारक शिक्षा, जागरूकता सृजन, क्षमता निर्माण, कौशल विकास, व्यावसायिक प्रशिक्षण, पूर्व नशीली दवाओं के आदी लोगों के लिए आजीविका सहायता और नशीली दवाओं के आदी लोगों के लिए एकीकृत पुनर्वास केंद्रों (Integrated rehabilitation centers for drug addicts) की स्थापना के कार्यक्रमों का समर्थन करती है।
इसके अतिरिक्त, गैर सरकारी संगठन/वीओ किशोरों के बीच नशीली दवाओं के प्रारंभिक उपयोग की रोकथाम (Prevention of early drug use among adolescents) के लिए समुदाय आधारित सहकर्मी नेतृत्व हस्तक्षेप (CPLI) कार्यक्रमों में शामिल हैं। इसके अलावा आउटरीच और ड्रॉप-इन सेंटर (ODIC) सरकारी अस्पतालों और जिला लत उपचार सुविधाओं (ATF Centre)  और नशा मुक्ति केंद्र (DDAC) के संचालन और रखरखाव के लिए जिम्मेदार होगी।


नोट: यह लेख मेडिकल रिपोर्टस से एकत्रित जानकारियों के आधार पर तैयार किया गया है।

अस्वीकरण: caasindia.in में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टर, विशेषज्ञों व अकादमिक संस्थानों से बातचीत के आधार पर तैयार किए जाते हैं। लेख में उल्लेखित तथ्यों व सूचनाओं को caasindia.in के पेशेवर पत्रकारों द्वारा जांचा व परखा गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी तरह के निर्देशों का पालन किया गया है। संबंधित लेख पाठक की जानकारी व जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। caasindia.in लेख में प्रदत्त जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है और न ही जिम्मेदारी लेता है। उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित बीमारी/विषय के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

 

caasindia.in सामुदायिक स्वास्थ्य को समर्पित हेल्थ न्यूज की वेबसाइट

Read : Latest Health News|Breaking News|Autoimmune Disease News|Latest Research | on https://www.caasindia.in|caas india is a multilingual website. You can read news in your preferred language. Change of language is available at Main Menu Bar (At top of website).
Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindi
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindihttps://caasindia.in
Welcome to caasindia.in, your go-to destination for the latest ankylosing spondylitis news in hindi, other health news, articles, health tips, lifestyle tips and lateset research in the health sector.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Article