Tuesday, April 23, 2024
HomeHealth TipsUTI : यूटीआई में गजब राहत पहुंचा सकता है यह 1 फल 

UTI : यूटीआई में गजब राहत पहुंचा सकता है यह 1 फल 

Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now

Highlights

महिलाओं में आम समस्या है urinary tract infection (UTI)

यूटीआई (UTI) मनुष्यों में होने वाला सबसे आम संक्रमण है। यह रोगाणुओं (Germs) की वजह से होता है। यह संक्रमण ज्यादातर ई कोली नामक बैक्टीरिया (E coli bacteria) की वजह से होते हैं। कुछ मामलों में कवक (Fungus) और वायरस (Virus) भी इसकी वजह बन सकते हैं।
हम यहां आपको विस्तार से यूटीआई के साथ इसमें फायदेमंद फल (Best Fruits for urinary tract infection) के बारे में जानकारी शेयर कर रहे हैं। आईए, सबसे पहले हम यूटीआई, यूटीआई के कारण, यूटीआई के लक्षण, यूटीआई के प्रकार आदि के विषय में जान लेते हैं।

महिलाओं में आम है यूटीआई की समस्या 

यूटीआई में गजब राहत पहुंचा सकता है यह फल
यूटीआई में गजब राहत पहुंचा सकता है यह फल
यूटीआई पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में एक आम समस्या है। महिलाएं इस संक्रमण के प्रति पुरुषों के मुकाबले ज्यादा संवेदनशील होती हैं। इसकी एक वजह उनकी शारीरिक बनावट भी है।
अधिकांश यूटीआई में निचले मार्ग (Lower tract) में केवल मूत्रमार्ग (Urethra) और मूत्राशय (urinary bladder) शामिल होते हैं लेकिन यूटीआई (Urinary tract infection) में ऊपरी पथ (Upper tract) में मूत्रवाहिनी (Urinary duct) और गुर्दे (kidneys) शामिल हो सकते हैं। हालांकि, ऊपरी पथ के यूटीआई (Upper tract UTI) निचले पथ के यूटीआई (Lower tract UTI) की तुलना में दुर्लभ (Rare) हैं। यह आमतौर पर अधिक गंभीर भी होते हैं। (upper tract urinary infections are rare and severe than Lower tract Urinary infection)

मूत्र पथ (urinary tract) निम्न अंगों से मिलकर बना है:

  • गुर्दे (Kidneys)
  • मूत्रवाहिनी (Urinary duct)
  • मूत्राशय (urinary bladder)
  • मूत्रमार्ग (Urethra)

Urinary tract infection दो प्रकार के होते हैं | Types of UTI 

ऊपरी पथ यूटीआई (Upper urinary tract infections)

यूटीआई के इस संक्रमण में गुर्दे और मूत्रवाहिनी प्रभावित हो सकते हैं। अपर ट्रैक्ट यूटीआई अधिक गंभीर होता है। इसमें तत्काल चिकत्सा सहायता की आवश्यकता होती है।

लोअर ट्रैक्ट यूटीआई (Lower urinary tract infections)

लोअर ट्रैक्ट यूटीआई में मूत्राशय और मूत्रमार्ग प्रभावित होते हैं। लोअर ट्रैक्ट यूटीआई अधिक आम समस्या है। कई बार यह अपने आप भी ठीक हो जाता है। वैसे लक्षण बढने पर इस मामले में भी चिकित्सा सहायता लेना जरूरी हो जाता है।

यूटीआई के लक्षण | symptoms of UTI

लोअर ट्रैक्ट यूटीआई के लक्षण (Lower tract UTI symptoms)

  •  पेशाब में खून आना (blood in urine)
  • पैल्विक दर्द (pelvic pain)
  • पेशाब की आवृत्ति में वृद्धि होना (increased frequency of urination)
  • धूंधला मूत्र (cloudy urine)
  • पेशाब करते समय जलन महसूस होना (burning sensation while urinating)

अपर ट्रैक्ट यूटीआई के लक्षण (Upper tract UTI symptoms)

  •  उल्टी (Vomit)
  • मतली महसूस होना (feeling nauseous)
  • बुखार (Fever)
  • पीठ और बाजू में तेज दर्द और कोमलता का अनुभव (Experience severe pain and tenderness in the back and arms)
  • ठंड लगना (feeling cold)
यदि आप इनमें से किसी भी लक्षण का अनुभव करते हैं, तो तत्काल स्वास्थ्य विशेषज्ञ से संपर्क करें। वे यूटीआई का निदान (Diagnosing Urinary tract infection) होने पर यूटीआई का उपचार शुरू करने से पहले कुछ आवश्यक परीक्षण ((Urinary tract infection test) लिख सकते हैं।

यूटीआई का इलाज | Treatment of UTI

यूटीआई संक्रमण के वैसे तो कई वजह हो सकते हैं लेकिन बहुत कम लोग ही यह जानते हैं कि यूटीआई खराब खानपान और अव्यवस्थि​त जीवनशैली की वजह से भी हो सकता है (urinary tract infections can also be caused by poor eating habits and disordered lifestyle.)
जबकि, अगर खानपान और जीवनशैली बेहतर है, तो यूटीआई से काफी हदतक बचना संभव है। अपने आहर के माध्यम से आपको शरीर में स्वस्थ पीएच (healthy pH) सुनिश्चित करना चाहिए। एक स्वस्थ पीएच यौगिक साइडरोकेलिन मूत्र पथ में संक्रमण पैदा करने वाले हानिकारक बैक्टीरिया को रोकने में सहायता करता है (The healthy pH compound siderocalcin helps prevent harmful bacteria that cause urinary tract infections)।

यूटीआई (Urinary tract infection) के लक्षणों से लडने में मदद कर सकता है यह फल 

यूटीआई के लिए एक आसान समाधान की खोज में यह पाया गया कि केले यूटीआई (Urinary tract infection) के लक्षणों से लडने में मदद कर सकते हैं (Bananas can help fight the symptoms of UTI)। हम यहां आपको केले में मौजूद उन पोषक तत्वों (nutrients present in banana) के बारे में बता रहे हैं, जो यूटीआई के लक्षणों को प्रबंधित करने में मदद कर सकते हैं।

क्या केले यूटीआई में फायदेमंद हैं ? | Are bananas beneficial in UTI?

यूटीआई में गजब राहत पहुंचा सकता है यह फल
यूटीआई में गजब राहत पहुंचा सकता है यह फल | Photo : Freepik
केला यूटीआई के मामले में लाभकारी है। यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है। जिससे यूटीआई पैदा करने वाले रोगाणुओं से लड़ने में मदद मिल सकती है। केला में पाए जाने वाले गुणकारी तत्व इसे ओवरएक्टिंग मूत्राशय (Overacting bladder) या मूत्र पथ संक्रमण (Urinary tract infection) से निपटने के लिए बेहतर बनाता है।
आप केले को यूटीआई का घरेलू उपचार (home remedies for यूटीआई) भी कह सकते हैं। यूटीआई के मामले में दिन में कम से कम एक बार केला खाया जाए तो मल त्याग में सुधार और अन्य यूटीआई समस्याओं का इलाज करने में सहायता मिलती है।

यूटीआई में केले के फायदे | Benefits of banana in UTI 

1. विटामिन बी6 यूटीआई रोगजनकों से लडने में करता है मदद | Vitamin B6 helps in fighting pathogens

विशेषज्ञों के मुताबिक, केले में पाए जाने वाला विटामिन बी6 मूत्रपथ के संक्रमणों की वजह बनने वाले रोगजनकों से लडने के लिए एंटीबॉडी जारी कर प्रतिरक्षा प्रणाली की मदद करता है। केला विटामिन बी6 का अत्यंत समृद्ध स्रोत है। इसलिए कई लोग केले को यूटीआई के लिए अच्छा मानते हैं।

2. विटामिन सी यूटीआई बैक्टीरिया को मार सकता है | Vitamin C can kill urinary tract infections bacteria

विशेषज्ञों के मुताबिक, केले में पाए जाने वाला विटामिन सी भी पानी में घुलनशील तत्व है। यह एंटीऑक्सिडेंट भी जारी करता है। इससे शरीर के उत्तकों (tissue) के मरम्मत में मदद मिलती है। इसकी प्रकृति अम्लीय (Acidic) होती है और यूटीआई का कारण बनने वाले बैक्टीरिया को यह मार सकता है । केले में काफी मात्रा में विटामिन सी होता है। इसलिए यह यूटीआई के मामले में बेहतर साबित होता है।

3. यूटीआई में फायदेमंद होता है केले में मिलने वाला फाइबर | Fiber found in bananas is beneficial for Urinary tract infection

डॉक्टरों के मुताबिक, नियमित रूप से मल त्याग न करने से मूत्र प्रवाह प्रभावित हो सकता है। इसकी वजह से बैक्टीरिया पनप सकते हैं। जो यूटीआई का कारण बन सकते हैं। फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ को आहार में शामिल करने और पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करने से मल त्याग बेहतर होता है। इससे मूत्र प्रवाह को

 कम करने और यूटीआई से निपटने में मदद कर सकता है। केले में फाइबर की भरपूर मात्रा होती है। इसलिए यह यूटीआई से निपटने के लिए अच्छा माना जाता है।

केला यूटीआई के मामले में बेहतर क्यों है? (Why is banana better in preventing urinary tract infection?)

इसकी जानकारी अब आपको मिल गई होगी। यूटीआई के लिए केला इसलिए फायदेमंद है क्योंकि इसमें पोटेशियम, फाइबर, विटामिन बी 6 और विटामिन सी सहित कई अन्य पोषक तत्वों की मौजूदगी होती है। इसके यही गुण इसे यूटीआई के लक्षणों से लडने के मामले में बेहतर साबित करते हैं।
यदि आप मूत्र पथ के संक्रमण से जूझ रहे हैं, तो अपने आहार में केला जरूर शामिल करें। विशेषज्ञों का कहना है कि यूटीआई से बचने के लिए उचित मात्रा में तरल पदार्थ का सेवन जरूरी है। इसके अलावा पौष्टिक आहार और बेहतर जीवनशैली भी इस संक्रमण से दूर रखने में आपकी मदद कर सकती है। 


नोट: यह लेख मेडिकल रिपोर्टस से एकत्रित जानकारियों के आधार पर तैयार किया गया है।

अस्वीकरण: caasindia.in में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टर, विशेषज्ञों व अकादमिक संस्थानों से बातचीत के आधार पर तैयार किए जाते हैं। लेख में उल्लेखित तथ्यों व सूचनाओं को caasindia.in के पेशेवर पत्रकारों द्वारा जांचा व परखा गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी तरह के निर्देशों का पालन किया गया है। संबंधित लेख पाठक की जानकारी व जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। caasindia.in लेख में प्रदत्त जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है और न ही जिम्मेदारी लेता है। उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित बीमारी/विषय के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

 

caasindia.in सामुदायिक स्वास्थ्य को समर्पित हेल्थ न्यूज की वेबसाइट

Read : Latest Health News|Breaking News|Autoimmune Disease News|Latest Research | on https://www.caasindia.in|caas india is a multilingual website. You can read news in your preferred language. Change of language is available at Main Menu Bar (At top of website).
Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindi
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindihttps://caasindia.in
Welcome to caasindia.in, your go-to destination for the latest ankylosing spondylitis news in hindi, other health news, articles, health tips, lifestyle tips and lateset research in the health sector.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Article