Sunday, March 3, 2024
HomeSpecialविश्व एड्स दिवस : एचआईवी नहीं Aids है असली बीमारी 

विश्व एड्स दिवस : एचआईवी नहीं Aids है असली बीमारी 

Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now

HIV और एड्स में है भारी अंतर और लक्षण भी हैं अलग 

 
नई दिल्ली। टीम डिजिटल :
 
एचआईवी (HIV) और एड्स (AIDS) इन दोनोें को लोग एक ही बीमारी मानते हैं लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं है। दोनों में काफी अंतर है। एक समय ऐसा था, जब इसका नाम सुनकर ही लोगों में खौफ पैदा हो जाता था लेकिन चिकित्सकीय विज्ञान के विकास के साथ अब इस महामारी जैसी बीमारी को बेहतर प्रबंधन और आधुनिक दवाओं की बदौलत इसे काफी हदतक नियंत्रित करने की सहुलियत मिल गई है। हम यहां दोनों ही नामों के बीच के अंतर को स्पष्ट करने की कोशिश कर रहे हैं। 
 

नाम ही नहीं लक्षण भी हैं अलग 

यह बात अलग है कि एचआईवी (HIV) और एड्स (AIDS) दोनों की चर्चा एक ही साथ होती है क्योंकि दोनों के बीच करीबी मामला है लेकिन चिकित्सा विज्ञान के मुताबिक एचआईवी और एड्स दोनों अलग विषय हैं। इन दोनों के बीच सबसे बडा फर्क है कि एचआईवी वायरस का नाम है। जबकि, एड्स एक बीमारी है। एड्स के कारण शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली पूरी तरह तबाह हो जाती है। एचआईवी का पूरा नाम ह्यूमन इम्यूनो डिफिशिएंसी वायरस है और एड्स का पूरा नाम एक्वायर्ड इम्यूनोडिफिशिएंसी सिंड्रोम है। दोनों के बीच अंतर अब स्पष्ट है। एचआईवी एक वायरस है और एड्स एक सिंड्रोम यानि बीमारी है। 
[irp posts=”8682″ ]

एड्स (Aids) क्या है?

विशेषज्ञों के मुताबिक जब कोई व्यक्ति एचआईवी से संक्रमित हो जाए और समय पर उसे उपचार नहीं दिया गया हो, तो आगे चलकर संक्रमित व्यक्ति एड्स से पीडित हो जाता है। जिन लोगों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है, उन्हें एड्स होने का जोखिम मजबूत इम्यून वाले व्यक्ति के मुकाबले अधिक होता है। शरीर में जैसे-जैसे एचआईवी (वायरस) की संख्या बढती है, हमारे शरीर का इम्यून सिस्टम कमजोर होने लगता है। ऐसे में वायरस से संक्रमित व्यक्ति के लिए सामान्य बीमारियां भी मौत की वजह बन सकती है। दुर्भाग्य से कई दशक बीत जाने के बाद भी एड्स एक लाइलाज बीमारी के रूप में इंसानी जिंदगी के लिए खतरा बना हुआ है। जबकि, दूसरी ओर समय रहते एचआईवी का उपचार मिल जाए तो वायरस से संक्रमित व्यक्ति सामान्य जीवन बिता सकता है। 
[irp posts=”8658″ ]

एचआईवी (HIV) क्या है?

विश्व एड्स दिवस : एचआईवी नहीं Aids है असली बीमारी 
विश्व एड्स दिवस : एचआईवी नहीं Aids है असली बीमारी
 
विशेषज्ञों के मुताबिक एचआईवी (वायरस) इम्यून सिस्टम को इस हदतक कमजोर कर देता है कि सर्दी-जुकाम जैसी सामान्य बीमारी से भी संक्रमित व्यक्ति बुरी तरह प्रभावित हो जाता है। एचआईवी संक्रमण की वजह से शरीर के टी सेल्स (टी लिम्फोसाइट) नष्ट होने लगते हैं। यह एक तरह का ल्यूकोसाइट (व्हाइट ब्लड सेल) है, जो इम्यून सिस्टम का बेहद महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह सेल्स संक्रमण को नष्ट करने में मदद करते हैं। यह सेल्स संक्रमित कोशिकाओं को नष्ट करने के बाद नए इम्यून सेल्स को सक्रिय करने में खास भूमिका निभाता है। 
[irp posts=”8635″ ]

इस तरह नहीं फैलता है एचआईवी 

  • संक्रमित व्यक्ति के साथ हाथ मिलाने से
  • मच्छर या कीड़े के काटने से
  • हवा और पानी के जरिए
  • सलाइवा, आंसू या फिर पसीने के जरिए
  • टॉयलेट शेयर करने से
  • साथ बैठकर खाने-पीने से 

एचआईवी के लक्षण (Symptoms of HIV)

  • वजन कम होना
  • अत्यधिक थकान महसूस होना
  • जोड़ों में दर्द और सूजन
  • मांसपेशियों में खिंचाव
  • सिर दर्द
  • गले में खराश
  • बार-बार बीमार पड़ना
[irp posts=”8216″ ]

इस तरह फैल सकता है एचआईवी 

विश्व एड्स दिवस : एचआईवी नहीं Aids है असली बीमारी 
विश्व एड्स दिवस : एचआईवी नहीं Aids है असली बीमारी
  • असुरक्षित और अप्राकृतिक यौन संपर्क
  • असुरक्षित खून चढाने से
  • संक्रमित निडल्स से इंजेक्ट करने से
  • संक्रमित माता से बच्चे में 
Read : Latest Health News|Breaking News |Autoimmune Disease News |Latest Research | on https://caasindia.in | caas india is a Multilanguage Website | You Can Select Your Language from  Menu on the Top of the Website. (Photo : freepik)

नोट: यह लेख मेडिकल रिपोर्टस से एकत्रित जानकारियों के आधार पर तैयार किया गया है।

अस्वीकरण: caasindia.in में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टर, विशेषज्ञों व अकादमिक संस्थानों से बातचीत के आधार पर तैयार किए जाते हैं। लेख में उल्लेखित तथ्यों व सूचनाओं को caasindia.in के पेशेवर पत्रकारों द्वारा जांचा व परखा गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी तरह के निर्देशों का पालन किया गया है। संबंधित लेख पाठक की जानकारी व जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। caasindia.in लेख में प्रदत्त जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है और न ही जिम्मेदारी लेता है। उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित बीमारी/विषय के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

 

caasindia.in सामुदायिक स्वास्थ्य को समर्पित हेल्थ न्यूज की वेबसाइट

Read : Latest Health News|Breaking News|Autoimmune Disease News|Latest Research | on https://www.caasindia.in|caas india is a multilingual website. You can read news in your preferred language. Change of language is available at Main Menu Bar (At top of website).
Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now
Avinash Jha
Avinash Jhahttps://caasindia.in
अविनाश झा एक Ankylosing Spondylitis warrior हैं और पिछले 10 वर्षों से एएस का सामना कर रहे हैं। पेशे से अकाउंट मैनेजर हैं। अविनाश पिछले 4 वर्षों से एएस वॉलेंटियर के तौर पर कार्य कर रहे हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Article

हेल्थ रिपोर्ट 2022 : हेल्थ के मामले में दुनिया में किस तरह की रही हलचल सर्दियों में इन ब्ल्ड ग्रुप वालों को हार्ट अटैक का रहता है जोखिम सफेद बाल से परेशान हैं तो आजमाएं यह तरीका मोबाइल जरूरी है लेकिन बढा रहा है जीवन में तनाव नपुंसकता खत्म कर देगी 8 टांगों वाली यह मकड़ी
हेल्थ रिपोर्ट 2022 : हेल्थ के मामले में दुनिया में किस तरह की रही हलचल सर्दियों में इन ब्ल्ड ग्रुप वालों को हार्ट अटैक का रहता है जोखिम सफेद बाल से परेशान हैं तो आजमाएं यह तरीका मोबाइल जरूरी है लेकिन बढा रहा है जीवन में तनाव नपुंसकता खत्म कर देगी 8 टांगों वाली यह मकड़ी