Saturday, July 13, 2024
HomeLifeStyleDe Quervain Tenosynovitis : मिल सकता है जिंदगी भर का दर्द जब...

De Quervain Tenosynovitis : मिल सकता है जिंदगी भर का दर्द जब मोबाइल पर थिरकेगी देर तक ऊंगलियां

इस बीमारी का पता वर्ष 2014 में चला था। जब मशहूर साइंस पत्रिका Lancet में इसके बारे में एक लेख प्रकाशित किया गया था। लेख में 34 साल की एक डॉक्टर की चर्चा है।

Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now

लगातार मोबाइल इस्तेमाल करने वाले लोग हो रहे हैं डी करवंस डिजीज का शिकार

De Quervain Tenosynovitis : अगर आप सामान्य से ज्यादा वक्त मोबाइल चैटिंग (mobile chatting) में बिताते हैं, तो थोडा संभलने की जरूरत है। चैटिंग और मैसेजिंग ऐप्स (Chatting and messaging apps) के विकास के साथ ही इसके दुष्परिणाम भी सामने आने लगे हैं। लोग घंटों बिना रूके चैट करते हैं। यह आदत सामान्य से ज्यादा मोबाइल चैटिंग करने वाले लोगों को जिंदगीभर के लिए दर्द में ले जा सकती है।

 लगातार चैटिंग ऐसे बन सकती है दर्द की वजह 

मेसेजिंग और चैटिंग ऐप का अत्यधिक इस्तेमाल (Excessive use of messaging and chatting apps) से होने वाली इस बीमारी का नाम है डी करवंस डिजीज (D’Carvan’s disease)। इसका मेडिकल नाम De Quervain Tenosynovitis है। इस बीमारी का पता वर्ष 2014 में चला था।
जब मशहूर साइंस पत्रिका Lancet में इसके बारे में एक लेख प्रकाशित किया गया था। लेख में 34 साल की एक डॉक्टर की चर्चा है। डॉक्टर ने क्रिसमस के मौके पर लगातार कई घंटों तक एक मेसेजिंग ऐप पर चैट में बिताए थे। जिसके बाद उन्हें यह समस्या उभरी थी। लगातार मेसेंजिंग ऐप के असामान्य इस्तेमाल (Unusual uses of messaging apps) के कारण यह बीमारी अब तेजी से लोगों को अपनी चपेट में लेने जगी है। लोग कलाई में भयंकर दर्द (severe pain in wrist) से परेशान हो रहे हैं।

क्या है De Quervain Tenosynovitis? 

De Quervain Tenosynovitis : मिल सकता है जिंदगी भर का दर्द जब मोबाइल पर थिरकेगी देर तक ऊंगलियां
De Quervain Tenosynovitis : मिल सकता है जिंदगी भर का दर्द जब मोबाइल पर थिरकेगी देर तक ऊंगलियां | Photo : Canva
डी क्वेरवेन की टेनोसिनोवाइटिस एक दर्दनाक स्थिति है। जिसमें कलाई में टेंडन (tendons in the wrist) प्रभावित होता है। यह तब होता है जब आपके अंगूठे के आधार के आसपास की दो कंडराओं में सूजन (Swelling of the two tendons around the base of the thumb) पैदा होता है। सूजन के कारण टेंडन को ढकने वाले आवरण में भी सूजन (Swelling of the sheath covering the tendon) आती है। जिससे आसपास की नसों पर दबाव पडता है। जिससे दर्द और सुन्नता पैदा होती है।

डी क्वेरवेन के टेनोसिनोवाइटिस के लक्षण

डी क्वेरवेन टेनोसिनोवाइटिस का मुख्य लक्षण (Main symptoms of De Quervain tenosynovitis) अंगूठे के आधार पर दर्द या कोमलता है। इसका दर्द अग्रबाहु (forearm) तक महसूस हो सकता है। दर्द अचानक आ सकता है या धीरे-धीरे बढ सकता है। अंगूठे या कलाई का इस्तेमाल करने पर दर्द और भी खराब हो सकता है।

अन्य लक्षण 

  • अंगूठे के आधार के पास सूजन
  • अंगूठे और तर्जनी के पिछले भाग का सुन्न होना
  • अंगूठा हिलाने पर “पकड़ने” या “तड़कने” जैसा एहसास होना

निदान कैसे किया जाता है?

डी क्वेरवेन के टेनोसिनोवाइटिस का निदान (Diagnosis of De Quervain tenosynovitis) करने के लिए डॉक्टर फिंकेलस्टीन परीक्षण (finkelstein test) करते हैं। सबसे पहले अंगूठा हथेली पर मोडने के लिए कहा जाता है। फिर अंगुलियों को अंगूठे के ऊपर बंद करके मुट्ठी बांधें। अंत में अपनी कलाई को अपनी छोटी उंगली की ओर झुकाएं। यदि आपके अंगूठे के आधार पर कोमलता या दर्द है, तो संभवतः यह डी क्वेरवेन टेनोसिनोवाइटिस (De Quervain’s tenosynovitis) भी हो सकता है। इस रोग का पता लगाने के लिए सामान्यतौर पर एक्स-रे जैसे अन्य परीक्षणों की आवश्यकता नहीं होती है।

 उपचार | Treatment of De Quervain tenosynovitis

प्रभावित क्षेत्र पर ठंडी और गर्म सिकाई

इस समस्या में चिकित्सक मरीज को नॉनस्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी दवा (NSAID) लेने की सलाह दे सकते हैं। इनमें इबुप्रोफेन (एडविल, मोट्रिन) या नेप्रोक्सन (एलेव) शामिल हो सकता है। मरीज को उन गतिविधियों से बचना चाहिए, जो दर्द और सूजन को बढा सकती है। मरीज को उन हरकतों से बचना चाहिए, जिसमें विशेषतौर से बार-बार हाथ और कलाई का उपयोग किया जाता है।
मरीज को अपने अंगूठे और कलाई को आराम देने के लिए 4 से 6 सप्ताह तक प्रतिदिन 24 घंटे स्प्लिंट पहनने की सलाह भी दी जा सकती है। कई बार दर्द बहुत ज्यादा बढने पर चिकित्सक पेन किलर या सुन्न करने वाले इंजेक्शन भी लेने की सलाह दे सकते हैं। इस समस्या से निपटने के लिए फिजियोथेरेपिस्ट की भी सहायता लेनी पड सकती है।
वे मरीज को मांसपेशियों को मजबूत करने वाले व्यायाम बता सकते हैं। अधिकांश लोगों को उपचार के 4 से 6 सप्ताह के बाद सुधार महसूस हो सकता है। सूजन ख़त्म हो जाने पर वे बिना दर्द के अपने हाथों और कलाइयों का उपयोग करने में सक्षम हो जाते हैं। लापरवाही बरतने पर यह स्थिति दोबारा भी पैदा हो सकती है। इसके उपचार के लिए बर्फ की सिकाई या गर्म सिंकाई भी किया जा सकता है।


नोट: यह लेख मेडिकल रिपोर्टस से एकत्रित जानकारियों के आधार पर तैयार किया गया है।

अस्वीकरण: caasindia.in में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टर, विशेषज्ञों व अकादमिक संस्थानों से बातचीत के आधार पर तैयार किए जाते हैं। लेख में उल्लेखित तथ्यों व सूचनाओं को caasindia.in के पेशेवर पत्रकारों द्वारा जांचा व परखा गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी तरह के निर्देशों का पालन किया गया है। संबंधित लेख पाठक की जानकारी व जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। caasindia.in लेख में प्रदत्त जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है और न ही जिम्मेदारी लेता है। उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित बीमारी/विषय के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

 

caasindia.in सामुदायिक स्वास्थ्य को समर्पित हेल्थ न्यूज की वेबसाइट

Read : Latest Health News|Breaking News|Autoimmune Disease News|Latest Research | on https://www.caasindia.in|caas india is a multilingual website. You can read news in your preferred language. Change of language is available at Main Menu Bar (At top of website).
Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram Group Join Now
Follow Google News Join Now
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindi
Caas India - Ankylosing Spondylitis News in Hindihttps://caasindia.in
Welcome to caasindia.in, your go-to destination for the latest ankylosing spondylitis news in hindi, other health news, articles, health tips, lifestyle tips and lateset research in the health sector.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Article